What-will-our-world-be-like-in-about-1000-years
travel

करीब 1000 साल बाद 3024 में हमारी दुनिया कैसी होगी: भविष्य में स्पेस, ट्रैफिक और पब्लिक ट्रांसपोर्ट और बिल्डिंग साथ ही कैसे बढ़ेगी टेक्नोलॉजी..

करीब 1000 साल बाद 3024 में हमारी दुनिया कैसी होगी

भविष्य में स्पेस, ट्रैफिक और पब्लिक ट्रांसपोर्ट और बिल्डिंग साथ ही कैसे बढ़ेगी टेक्नोलॉजीआज हमारी science के बहुत ही ज्यादा एडवांस होने के चलते हम बहुत ही एडवांस गेजेट्स और बहुत ही एडवांस टेक्नोलॉजी को इस्तमाल करते हैं इस आधुनिक युग में आप इस छोटे से डिवाइस से ही दुनिया में कही पर भी किसी से भी किसी भी कोने में बात करसकते हैं, और उस जगह की लाइव वीडियो भी देख सकते हैं और आज दुनिया में किसी भी समय कोई भी कितनी भी पुरानी information हम चुटकियों में निकाल सकते हैं, लेकिन जो भविष्य में होने वाला है वो इससे भी गजब होगा जिससे आज के दिन आज के आम लोगों के लिए कल्पना भी करना मुश्किल है, कुछ ठोस वैज्ञानिक आधारों पर हमारे वैज्ञानिकों ने हमारे आने वाले 1000 साल बाद के भविष्य का प्रिडिक्शन किया है।

ALSO READ: Yamaha की ये 4 बाइक भारत की सड़को में तहलका मचाने आ रही है, जाने इसके बारे में

पहले के समय अक्सर आने वाले फ्यूचर को लेकर प्रिडिक्शन किया करते थे पिछले कुछ 100 सालों में अब पेस्ट के कंपैरिजन में आज के समय की टेक्नोलॉजी बहुत ही ज्यादा डेवलप हो चुकी है और पहले के मुकाबला हमारे पास आज बेटर और एडवांस टूल भी है यह पता लगाने के लिए की आने वाले हजार सालों में हमारी पृथ्वी कैसी होगी और हम ह्यूमन किस हाल में जी रहे होंगे अब वैसे तो टेक्नोलॉजी इतनी भी डेवलप नहीं है की हम एक्युरेटली बता पाए की 100 साल बाद फ्यूचर में क्या-क्या होने वाला है लेकिन हम एविडेंस और टेक्नोलॉजी का उपयोग करके एक आइडिया जरूर लगा सकते हैं क्या आने वाले हजार सालों बाद ये दुनिया कैसी होगी।

1000 साल बाद की दुनिया और इंसान कैसे दिखेंगे

जानते हैं की आज से करीब 100 साल बाद यानी की साल 3024 में हमारी दुनिया कैसी होगी, सबसे पहले जानते हैं की भविष्य में हमारे आशियाने हमारे घर कैसे होंगे तो फ्यूचर में बहुत सारे परिवर्तन हमारे रहने और शायद हमारे रहने की जगह में भी सदियों पहले हमारे पूर्वज गुफाओं में रहते थे फिर कुछ छोटे-छोटे आशियाने या झोपड़िया बनाकर रहने लगे फिर कुछ डेवलप हुआ और लकड़ी के घर बने लगे फिर दुनिया और आगे बढ़ी उसके बाद आलीशान महल बनने लगे और आज बड़ी-बड़ी इमारतें है अब हजारों साल पहले जो आदिमानव छोटे से झोपड़ों में या गुफाओं में बसे थे उन्हें आज के आलीशान महलों में या बड़ी-बड़ी इमारत में ले आया जाए तो उन्हें ताज्जुब जरूर होगा की आखिर यह है।

ALSO READ: आमिर खान की बेटी आयरा की हुई Reception Party: सलमान खान, शाहरुख खान सहित कई फिल्मी सितारे रहे मौजूद, यहाँ देखें पूरी Guest list.

क्या बस ऐसा ही ताज्जुब हम लोगों को होगा अगर हम आज से 1000 साल बाद के आशियानों में जाकर बसने लगे 1000 साल बाद रहने के तोर तरीके और रहने की जगह सब कुछ बदल चुका होगा इंसान पानी में भी घर बनाकर रहने लगेंगे। हालांकि पाल्म आइलैंड जो दुबई में स्थित है वह ऑलरेडी समुद्र के ऊपर हमने बनाया हुआ। एक छोटा सा नगर है पर भविष्य में तो हम inside water community बनाने में कामयाब हो जाएंगे और इंसान पानी में भी और कुछ बहुत ही ज्यादा ठंडी या बर्फीली जगह पे भी आराम से रहने लगेंगे इतना ही नहीं दूर के भविष्य में तो हम किसी और ग्रह पे भी शायद अपना आशियाना बनाने में कामयाब हो जाए।

1000 साल बाद करीब स्पेस में जगह बना चुके होंगे

1000 साल बाद करीब करीब हम इंटरप्लेनेटरी स्पेस में जगह बना चुके होंगे दुनिया भर की गवर्नमेंट ऑर्गेनाइजेशन और कुछ स्पेस एक्स जैसे प्राइवेट ऑर्गेनाइजेशन पुरी तरह से इस प्रयास में है की वो सोलर सिस्टम के दूसरे प्लैनेट्स पर भी लाइफ की पॉसिबिलिटी ढूंढ सके आपने भी अक्सर खबरे में सुना होगा की साइंटिस्ट हमारे पड़ा से प्लैनेट्स पर पानी और अर्थ जैसा एटमॉस्फेयर ढूंढने की कोशिश में लगे हैं हालांकि अभी तक तो हम किसी भी ऐसे प्लेनेट को ढूंढ अपने में कामयाब नहीं हुए हैं लेकिन हमने स्पेस साइंस में जो पिछले 100-150 सालों में कर दिखाए है वो देखते हुए लगता है की आने वाले एटलिस्ट हजार सालों में तो हम ऐसा कोई प्लैनेट ढूंढ ही लेंगे।

द लाइफ एक्सपेक्टेंसी (tha Life Expectancy)

आज से गरीब 18वीं सदी के बात करे जब हमारा किसी का जन्म भी नहीं हुआ था तो उसे समय इंसानों की एवरेज लाइफ करीब 38 साल हुआ करती थी यानी की बाल मृत्यु डर बहुत ही ज्यादा था और लोग ओल्ड आगे बहुत साड़ी बीमारियों से ग्रस्त होकर मर जाया करते थे लेकिन आज केदिन देखिए ना 21वीं सदी में यही एवरेज आगे करीब 80 साल हो चुकी है, और यह एवरेज ऐज को बढ़ाने का करण आज की हमारी एडवांस मेडिकल है जिसके पास बड़ी-बड़ी बीमारियों का इलाज है लेकिन फ्यूचर में नैनो टेक्नोलॉजी के बढ़ जाने से हम आज से भी बहुत ज्यादा एडवांस हो जाएंगे और विज्ञान के अनुसार कई रिपोर्ट से ये सिद्ध भी हो चुका है, क्या आज से करीब 1000 साल बाद इंसानों की एवरेज आयु लगभग 150 साल से भी ज्यादा हो सकती है, और फ्यूचर में जो लोग देख नहीं सकते उनकी भी आंखों का कृत्रिम तरीके से इलाज होगा।

ALSO READ: Honda Bikes launch 2024: भारत की सड़कों में उतरेगी Honda की ये शानदार 10 Bikes, जाने क्या है खासियत..

1000 साल बाद ट्रैफिक और पब्लिक ट्रांसपोर्ट (Traffic and public transport)

आज हमारा ट्रैफिक कई सारे शहरों में क्रैस हो चुका है, ट्रैफिक इतना ज्यादा रहता है की कभी-कभी तो लगता है की शहर को छोड़कर गांव में बस जाए लेकिन आने वाले भविष्य में पब्लिक ट्रांसपोर्ट बहुत ही एडवांस होने वाला है आने वाले भविष्य में रोड के बीच से गुजरेगी पब्लिक ट्रांसपोर्ट यानी की गाड़ियां चलेगी जो आम गाड़ियों से ऊपर होती हुई कुछ रहेगी और इसमें बहुत सारे पैसेंजर एक साथ सफर कर पाएंगे इसके साथ ही रोड के ऊपर रोड बनने लगेगी यानी की रोड के भी स्टेयर्स बनेंगे और कम जगह से भी बहुत सारा यातायात आसानी से गुजरेगा भविष्य में थोड़ा और दूर जाए तो सब लोग लगभग और एयर कार से ट्रैवल करेंगे और करीब 1000 साल बाद तो इतनी ऊंची-ऊंची इमारतें होगी।

इमारत के बीच से और ट्रांसपोर्ट और पब्लिक ट्रांसपोर्ट कनेक्ट हो जाएगा 1000 साल बाद तो हम पृथ्वी के नेचुरल रिसोर्सेस को इतना उपयोग करके इतनी बड़ी-बड़ी इमारतें और इतने अव्वल का ट्रांसपोर्ट सिस्टम बनाएंगे कई साड़ी इमारत के बीच से रास्ते गुजरेगी और पब्लिक ट्रांसपोर्ट और प्राइवेट ट्रांसपोर्ट दोनों ही आज के हमारे ट्रांसपोर्ट के मुकाबला बहुत ही बहुत ही ज्यादा उन्नत होगा गाड़ियों की बात करें तो गाड़ियां अपने आसपास की गाड़ियों से भी कम्युनिकेट कर पाएगी और इसके चलते एक्सीडेंट्स बहुत ही कम होंगे जैसे की हम सब जानते हैं भविष्य में ट्रांसपोर्ट की स्पीड बढ़ेगी फ्लाइट्स की भी स्पीड बढ़ेगी और ये बढ़कर इतनी हो जाएगी की कुछ सदियों बात हम भारत से न्यूयोर्क तक कम से कम डेड घंटे में पहुंच जाएंगे।

करीब 1000 बाद कैसे टेक्नोलॉजी और कंप्यूटर रहेंगे

भविष्य में नैनो सुपर कंप्यूटर का भी उपयुक्त किया जाएगा जिसका साइज बहुत छोटा होगा और इन कंप्यूटर के अंदर नैनो पार्टिकल्स तरल का इस्तेमाल किया जाएगा। कंप्यूटर के द्वारा बहुत सारे एडवांस सिस्टम को चलाया जायेगा, करीब 1000 बाद कैसे टेक्नोलॉजी और कंप्यूटर रहेंगे यह बता दे की आज के समय में भी कंप्यूटर थोड़े धीरे काम करते है लेकिन 1000 साल बाद टेक्नोलॉजी इतनी बढ़ जाएगी की भविष्य में नैनो सुपर कंप्यूटर का भी उपयुक्त किया जाएगा।

करीब 1000 बाद बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर (Building and Infrastructure)

आज बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे ऊंची इमारत है लेकिन अगले कुछ सालों में यह सत्य भी बदलने वाला है क्योंकि दुनिया के सबसे ऊंची बिल्डिंग की कंस्ट्रक्शन का काम आने वाले कुछ समय में पूरा हो जाएगा जिसका नाम है जेद्दा टावर जिसकी ऊंचाई करीब 3308 फिट होगी और जो की सबसे ऊंची इमारत बन जाएगी कुछ सालों बाद तो सेल्फ क्लीन बिल्डिंग का निर्माण भी किया जाएगा जैसे की आज जितनी ही बड़ी बिल्डिंग होती है उतनी ही बड़ी उसके रखरखाव और क्लीनिंग की समस्या होती है और बहुत सारे लोग इसके साफ-सफाई में जुड़े हुए होते हैं।

लेकिन भविष्य में इमारत एक खुद अपने आप को साफ करेगी वो कैसे तो बताते हैं, दोस्तों भविष्य में इमारतें उनके सरफेस और उनके ग्लास पर टाइटेनियम ऑक्साइड का परत चढ़ाया जाएगा जिसकी मदद से इन बिल्डिंग पर चिपके धूल और दाग धब्बे सूरज की रोशनी से गर्म होकर पानी से या बारिश से धूल जाएंगे और इन बिल्डिंग की चमक सालों साल नई जैसी ही रहेगी सिर्फ इतना ही नहीं इन टाइटेनियम डाइऑक्साइड का प्रयोग हमारे कपड़ों में भी किया जाएगा।

1000 साल बाद इंसान कैसे दिखेगा (Appearance of Human Being)

भविष्य में 1000 साल बाद इंसान कैसे दिखेगा क्या आपको पता है अब हम भूतकाल की बात करें तो आदिमानव शिकार करता था और कच्चा ही खाता था इसलिए उस वक्त हमारे पूर्वजों के दांत बहुत ही बड़े और शार्प होते थे पर आपके आविष्कार के बाद हमारे खाना खाने की रीत चेंज हुई है जिसके चलते हमारे जबड़े और दांत में भी इवोल्यूशन हुआ है उस वक्त के मुकाबला आज हमारे दांत बहुत ज्यादा छोटे और कम नुकीले हो गए हैं और आने वाले हजार साल में हमारे दांत इससे भी ज्यादा छोटे और कम नुकीले होने की संभावना है इतना ही नहीं भविष्य में इंसान का दिखावा भी बहुत ही ज्यादा बदल चुका होगा भविष्य में सूरज की करने और ज्यादा तेज होने की संभावना है।

जिसके चलते सूरज के लगातार बढ़ रही यूवी रेडिएशन की बारिश पृथ्वी पर सीधा इफेक्ट करेगी जी वजह से हमारी स्क्रीन में भी इवोल्यूशन होगा और हमारी स्क्रीन का रंग आज से भी और ज्यादा सावला हो जाएगा हमारी स्क्रीन थोड़ी रेडी स्ट हो शक्ति है और हमारे जबड़े थोड़े और बड़े हो गए भविष्य के इंसान की बात करें तो वह आज के मुकाबला और ज्यादा स्मार्ट और और ज्यादा एडवांस होगा लेकिन वो और ज्यादा लंबा और पतला हो जाएगा इससे आगे अगर बात करें तो इंसान के दिमाग पर जितना लोड पिछले हजारों सालों में नहीं पड़ा उससे ज्यादा आज पड़ रहा है नॉलेज और इनफॉरमेशन का डाटा इंसानी दिमाग लगातार एब्सर्ब कर रहा है और इसके करण हमारे दिमाग का एक हिस्सा जिसे कहा जाता है प्रीक्वांटम कोरटेक्स वो आकार में इंक्रीज होगा वो आज भी लगातार आकर में धीरे-धीरे इंक्रीज हो रहा है और इसके ग्रोथ के चलते हम इंसानों का दिमाग और बड़ा हो जाएगा।

ALSO READ: 2024 में ये 6 वेब सीरीज OTT में हो रही है रिलीज, मिर्जापुर 3 से लेकर आश्रम 4 जैसी धमाकेदार वेब सीरीज, जाने कब और कैसे होगी रिलीज.

भाषाएँ (languages)

लैंग्वेज आने वाले कुछ सालों में हम नई-नई टेक्नोलॉजी के जारी हमारी भाषा को दुनिया के किसी भी भाषा में हमारी फोन के जारी बहुत ही आसानी से ट्रांसलेट कर पाएगी हालांकि यह कम आज भी हम गूगल ट्रांसलेशन से कर सकते हैं लेकिन फ्यूचर में यह की आसन हो जाएगा जब हम अपनी भाषा में बोलेगा और हमारा फोन किसी और भाषा में उत्तर देगा हालांकि दोस्तों 1000 साल बाद लगभग आज जितनी भी भाषाएँ पृथ्वी पर बोली जाति है वो सभी खत्म हो जाएगी।

भविष्य में पृथ्वी का वातावरण कैसा होगा

यह जो प्रोग्रेस यह जो विकास आपने देखा वो तो अगले हजार सालों में होने वाला
है हालांकि इसके साथ-साथ हमारी पृथ्वी के लिए आने वाले समय में और ज्यादा खतरे भी आने वाले हैं तब तक हो सकता है की सी लेवल इतना बाढ़ जाए की बहुत ही खूबसूरत देश जलमग्न हो जाएंगे बात करें 1000 साल के बाद की तो उसके बाद तक हमारे सूरज की अल्ट्रावायलेट रेस बहुत ही ज्यादा बाढ़ जाएगी।

और जी करण वैज्ञानिकों का ये कहना है की हमें उसे समय तक हो सके उतने जल्दी मंगल ग्रह पर या किसी और प्लेनेट पर जाना पड़ेगा अगर भविष्य में हम मंगल पर मानव बस्ती बसाने में successfully कामयाब रहे तो मंगल पर बसाने वाले घर कुछ ऐसे दिखते होगी और वहां पर निर्मित होने वाले शहर कुछ ऐसे दिखाई देगी दोस्तों इंसान मंगल पर बस्ती कैसे बसाएंगे और वहां पर घर कैसे दिखेंगे यह भी भविष्य में मुमकिन होगा क्योकि भविष्य 1000 बाद सब कुछ मुमकिन होगा।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *